Sunday, August 25, 2013

Har Ek Kadam Per Inta Imtihan Hai Mujhe Maloom Hua

Dhananjay Parmar
Har Ek Kadam Per Inta Imtihan Hai Mujhe Maloom Hua,
Zindagi Ke Har Mod Per Har Rasta Naya Hai Mujhe Maloom Hua,
Phool Hansta Hai To Log Daali Se Tod Dete Hain,
Ek Hansi Mein  Itni Badi Saja Hai Mujhe Maloom Hua

Hi friend’s
This is just poem and shayari,




किस बात पर गर्व करे.....?? 

लाखों करोड़ के घोटालों पर...? 
85 करोड़ भूखे गरीबों पर...?
62 प्रतिशत कुपोषित इंसानों पर...? 
या क़र्ज़से मरते किसानों पर...? 

किस बात परगर्व करे.....?? 
जवानों की सर कटी लाशों पर...? 
सरकार में बैठे अय्याशों पर....? 
स्विस बैंकों के राज़ पर...? 
प्रदर्शनकारियों पर होते लाठीचार्ज पर...? 

किस बात पर गर्व करे......??
राज करते कुछ परिवारों पर....? 
उनकी लम्बी इम्पोर्टेड कारों पर....? 
रोज़ हो रहे बलात्कारों पर...? 
या भारत विरोधी नारों पर...? 

किस बात पर गर्व करे......?? 
महंगे होते आहार पर....? 
अन्याय की हाहाकार पर....?
बढ़ रहे नक्सलवाद पर....?
या देश तोड़ते आतंकवाद पर....? 

किसबात पर गर्व करे.......?? 
जवानों की खाली बंदूकों पर....? 
सुरक्षा पर होती चूकों पर....? 
पेंशन पर मिलतेधक्कों पर.....? 
या IPL के चौकों-छक्कों पर....? 

किस बात पर गर्व करे......?? 
किसानों से छिनती ज़मीनों पर....? 
युवाओं की खिसकती जीनों पर....? 
संस्कृति पर होते रेलों पर.....? 
या क्रिकेट-कॉमनवेलथ खेलों पर....? 

किस बात परगर्व करे......?? 
साढ़े 900 के सिलेंडर पर...? 
दुश्मन के आगे होते सरेंडर पर....? 
इस झूठी शान पर....?
या 'इंडियन' होने की पहचान पर....? 

किस बात पर गर्व करे.....??किस बात पर गर्व करे.....?


Dhananjay Parmar
Dhananjay Parmar