Thursday, December 11, 2014

Maut Ne Aaj Fir

Dhananjay Parmar
Dhananjay Parmar
पलकें खुली सुबह तो ये जाना हमने,
मौत ने आज फिर हमें ज़िन्दगी के हवाले कर दिया...